back

गोपनीयता कथन

  1. भारतीय स्टेट बैंक का प्रादुर्भाव वर्ष 1806 में हुआ था जब बैंक ऑफ कलकत्ता (बाद में बैंक ऑफ बंगाल कहा जाने लगा ) की स्थापना हुई । वर्ष 1921 में बैंक ऑफ बंगाल तथा अन्य दो अन्य प्रेसीडेंसी बैंकों ( बैंक ऑफ मद्रास और बैंक ऑफ बंबई ) को मिलाकर इम्पीरियल बैंक ऑफ इंडिया बनाया गया। वर्ष 1955 में, इम्पीरियल बैंक ऑफ इंडिया के नियंत्रण-हित भारतीय रिज़र्व बैंक ने ले लिए और इसी के साथ भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) अस्तित्व में आया। भारतीय स्टेट बैंक की स्थापना इम्पीरियल बैंक के उत्तराधिकारी के रूप में संसद के एक अधिनियम द्वारा की गई। भारत के वित्त क्षेत्र में, एसबीआई विश्वास और सुरक्षा का पर्याय बन चुका है।
  2. मान्य अंतरराष्ट्रीय प्रथा के अनुरूप और ग्राहकों तथा उन अन्य व्यक्तियों की जानकारी के लिए जो इस वेबसाइट को देखते हैं, यह आवश्यक है कि एक गोपनीय कथन साइट पर उपलब्ध कराया जाए । बैंक के साथ साझा की जाने वाली जानकारी निजी मानी जाएगी। हम स्पष्ट रूप से यह भी कहना चाहते हैं कि ग्राहकों से संबंधित जानकारी तथा बैंक के साथ उनके लेन देन को शरारतियों तथा धोखेबाजों से बचाने के लिए पर्याप्त सावधानी बरती गई है ।
  3. ग्राहक की गोपनीयता और निजता एसबीआई के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। हमारे कर्मचारी जिस प्रकार पूरी जिम्मेदारी तथा गोपनीयता के साथ अपने वित्तीय खातों तथा लेन देनों के प्रति सजग व सावधान रहते हैं ठीक उसी तरह अपने ग्राहकों के खातों में भी उतनी ही जिम्मेदारी का निर्वाह करते हैं ।
    1. आपकी गोपनीयता की अपेक्षा को हम समझते हैं
      हम इस बात के महत्व को समझते हैं कि हमारे ग्राहक हमसे उनके व्यक्तिगत और वित्तीय मामलों की जानकारी को गोपनीय बनाए रखने और उनसे सुरक्षित रखने की अपेक्षा रखते हैं। हम समझते हैं कि आपने अपनी बैंकिंग आवश्यकताओं के लिए हमारा चयन करके हमें अपनी निजी वित्तीय जानकारी को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी सौंपी है। हम आपको बताना चाहते हैं कि हम आपकी निजी वित्तीय जानकारी की गोपनीयता बनाए रखने के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं और इसके लिए हमने निम्नलिखित गोपनीयता सिद्धांतों और व्यवहारों का अंगीकरण किया है।
    2. कौन-कौन सी व्यक्तिगत जानकारी पहचान के लिए आपसे ली जाती है?
      हम आपसे आपके नाम, पते, ईमेल पते, पासपोर्ट नंबर, आय, पैन, नामितियों की जानकारी आदि प्राप्त करते हैं ।
    3. कुकीज़
      कुकी एक डाटा फाइल होती है जो कुछ ऐसी वेबसाइटें आपके कंप्यूटर की हार्ड ड्राइव पर लिखने का कार्य करती हैं जब आप उन साइटों को देखते हैं । कुकी फाइल में कुछ जानकारी रहती है जैसे उपयोगकर्ता की पहचान का कोड जिससे साइट आपके द्वारा देखे गए पेजों की जानकारी प्राप्त कर इसका व्यावसायिक प्रयोजन के लिए इस्तेमाल कर सकती है । हम अपनी वेब साइट पर कुकीज़ का उपयोग नहीं करते हैं ।
    4. हम ग्राहकों की जानकारी का कैसे उपयोग, संग्रहण करते हैं और इसे किस रूप में रखते हैं ?
      अपनी साइट पर हम आपकी जानकारी का तभी संग्रहण, अपने पास रखने और इसका उपयोग करने का कार्य करते हैं जब हमें यह ठीक से विश्वास होता है कि हमें इससे व्यवसाय संचालन या अपने उत्पादों, सेवाओं, और अन्य अवसर प्राप्त करने में मदद मिलेगी । हम आपकी जानकारी को केवल कुछ व्यावसायिक प्रयोजनों के लिए संग्रहीत कर अपने पास रखते हैं ।
    5. हम इस जानकारी का उपयोग निम्नलिखित प्रयोजनों के लिए करते हैं :
      1. आपके खाते खोलने, संचलित करने तथा आपके रिकार्डों व पैसे को सुरक्षित रखने ।
      2. सभी लागू कानूनों और विनियमों का अनुपालन करने।
        हमें अपने उत्पादों और सेवाओं के सृजन और इन्हें बेहतर बनाने में मदद करें ताकि इनका लाभ आपको मिल सके।
      3. आपकी वित्तीय जरूरतों को समझ कर आपको गुणवत्तापूर्ण उत्पाद और बेहतर सेवाएँ दे सकें।
      4. देश में वित्तीय सेवाओं को नियंत्रित करने वाले कानूनों, दिशानिर्देशों और विनियमों का पालन करने के लिए ।
      5. उदाहरण के लिए हमें अनिवासी खाते के लिए पासपोर्ट संख्या तथा निवासी ग्राहकों के जमा खातों के लिए पैन संख्या की आवश्यकता होती है ।
    6. कैसे हम ग्राहकों की सही जानकारी रखते हैं
      यह आपके हित में है, और हमारा उद्देश्य है कि आपको अपने बारे में और अपने खातों के विषय में सही, नवीनतम और पूरी जानकारी मिले। हमने कड़ी कार्यविधियाँ निर्धारित की हैं और इन उद्देश्य को पूरा करने के लिए कर्मचारियों को इनका पालन करना होता है। हालांकि कुछ प्रक्रियाएँ केंद्र, राज्य कानून या भारतीय रिज़र्व बैंक के नियमों के लिए आवश्यक हैं, हमने नवीनतम जानकारी रखने और पुरानी जानकारी को साइट से हटाने की प्रक्रियाओं सहित, सटीक वर्तमान, और पूरी वित्तीय जानकारी को बनाए रखने के लिए अतिरिक्त प्रक्रियाओं को लागू किया है। यदि आपको यह लगता है कि आप या आपके खाते के बारे में दी जा रही जानकारी ठीक नहीं हैं, तो कृपया वेबसाइट पर जानकारी देने के लिए की गई व्यवस्था का उपयोग करके हमें ई मेल द्वारा सूचित करें या अनुमत साइट पर जाकर अपनी प्रोफाइल जानकारी को संशोधित कर दें। हम गलत जानकारी को यथा शीघ्र ठीक कर देंगे ।
    7. हम अपने कर्मचारियों द्वारा ग्राहकों की जानकारी के उपयोग की सीमा कैसे तय करते है ।
      हमने ऐसी प्रक्रियाएँ लागू की हैं जिनसे आपकी व्यक्तिगत पहचानयोग्य जानकारी को केवल उन्हीं कर्मचारियों द्वारा देखा जाए जिन्हें व्यावसायिक कारणों से इसकी आवश्यकता है । हम ग्राहकों की जानकारी की गोपनीयता की रक्षा के लिए अपने कर्मचारियों को प्रशिक्षित करते हैं। यदि वे इस गोपनीयता नीति का उल्लंघन करते हैं तो उन्हें इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है ।
    8. ग्राहक की जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए हमारी सुरक्षा प्रक्रियाएँ
      हम आपके संबंध में गोपनीय जानकारी का अनधिकृत उपयोग रोकने के लिए सर्वोत्तम सुरक्षा पद्धति का अनुपालन करते हैं ।
    9. हम ग्राहकों की जानकारी को प्रकट किए जाने से कैसे रोकते हैं :
      भारतीय स्टेट बैंक ग्राहक की जानकारी किसी को नहीं देता है सिवाय उस स्थिति के जब किसी लागू कानून के अनुसार या आपके अनुदेशानुसार इसे देना जरूरी हो। हम ग्राहकों के खातों की कुछ जानकारी या अन्य व्यक्तिगत पहचानयोग्य जानकारी किसी भी तीसरे पक्ष व्यक्तिगत उपयोग के लिए अप्राधिकृत व्यक्तियों के साथ साझा नहीं करते हैं। जब तक कि निम्नलिखित कारणों से ऐसा करना आवश्यक न हो :
      1. जानकारी आपके द्वारा शुरू किए गए लेन देन को पूरा करने में सहायता करने के लिए प्रदान की जाती है;
      2. आपका अनुरोध हो या आपने इसके लिए किसी को प्राधिकृत किया हो ;
      3. जब प्रकटीकरण ( डिस्क्लोजर ) कानून द्वारा आवश्यक/ या कानून द्वारा निर्देशित हो ;
      4. जब आपको पहले से जानकारी देकर मार्केटिंग या इसी तरह के अन्य उद्देश्यों के लिए इस तरह के प्रकटीकरण की संभावना हो तथा आपको इस पेशकश को अस्वीकार करने के लिए अवसर दिया गया हो ।
    10. अपनी गोपनीयता नीति तैयार करके तथा उसका आपको प्रकटीकरण करके हम आपको व्यक्तिगत गोपनीयता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता से अवगत कराना चाहते हैं
      1. कोई संभावित ग्राहक जो हमारे उत्पादों और सेवाओं के बारे में पूछते हैं या जो हमारी गोपनीयता नीति की एक प्रति चाहते हैं
      2. ऐसे ग्राहक जिनके हमारे साथ संबंध हैं
      3. ऐसे संभावित ग्राहक जिन्होंने ऋण के लिए आवेदन किया है
      4. भारतीय स्टेट बैंक की वेब साइट देखने वालों के लिए
    11. यदि आपके हमारे इस गोपनीयता नीति के बारे में कोई प्रश्न या जिज्ञासाएँ हैं तो कृपया आप हमें ई - मेल भेजिए या इस पते पर लिखकर भेजिए - सहायक महाप्रबंधक ( इंटरनेट बैंकिंग) , आईटी विभाग, स्टेट बैंक भवन, कारपोरेट केंद्र, मैडम कामा रोड, मुंबई, भारत, पिन कोड 400 021
    12. भारतीय स्टेट बैंक की वेब साइट (http://sbi.co.in/), http://www.statebankofindia.com, https://www.onlinesbi.com/corporate/sbi_home.html, पर प्रत्येक आगंतुक (विजिटर) के लिए भारतीय स्टेट बैंक की वेब साइट पर इंटरनेट गोपनीयता , हमें आगंतुक के बारे में निम्नलिखित जानकारी स्वत: मिल जाती है-
      1. आगंतुक (विजिटर) के इंटरनेट सेवा प्रदाता (उदाहरण के लिए, एओएल या एटी एंड टी वर्ल्डनेट), परंतु आपकी व्यक्तिगत ई - मेल का पता नहीं। उदाहरण के लिए, आपके ई - मेल पते में अगर 'rediffmail.com' है तो हमे केवल इतनी ही जानकारी मिलेगी
      2. ग्राहकों द्वारा देखे जाने वाले पृष्ठों के बारे में आगंतुकों की कुल संख्या
    13. हमारी वेब साइट के बारे में अन्य जानकारी
      1. भारतीय स्टेट बैंक की वेब साइट को बच्चों द्वारा देखा जाना : हमें विश्वास है कि बच्चों के माता पिता को भारतीय स्टेट बैंक द्वारा उपलब्ध कराई गई कोई जानकारी ब्च्चों द्वारा देखे जाने के लिए आपत्तिजनक नहीं प्रतीत होगी ।
      2. भारतीय स्टेट बैंक की इन्टरनेट बैंकिंग सेवा का उपयोग कर रहे ग्राहक : हमारी एसबीआई इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करते समय एक ग्राहक को तौर पर स्वेच्छा से दी गई किसी जानकारी के साथ एकत्र की गई आगंतुक की समस्त जानकारी।
      3. भारतीय स्टेट बैंक की वेब साइट के/से लिंक: हमारी वेब साइट के साथ जुड़ी वेब साइटों द्वारा अंगीकृत सूचना प्रणालियों के लिए भारतीय स्टेट बैंक जिम्मेदार नहीं है। आम तौर पर, गैर एसबीआई वेब साइटों के लिंक एसबीआई की वेब साइट के उपयोगकर्ताओं के लिए उपयोगी विषयों पर ही सूचना संकेत के रूप में ही प्रदान की जाती है
      4. एन्क्रिप्टेड सूचनाएँ : एसबीआई की वेब साइट पर आपके द्वारा उपलब्ध कराई गई सूचनाओं को सुरक्षित रखने के लिए एन्क्रिप्टेड या अव्यवस्थित रूप से रखी जाती है।
    14. गोपनीयता नीति समय - समय पर बदल जा सकती है।